S.D. Human Development, Research & Training Center | सुशासन-तन्त्र की शुकनासोपदेश पर आधारित प्रश्नावली सुशासन-तन्त्र की शुकनासोपदेश पर आधारित प्रश्नावली | S.D. Human Development, Research & Training Center
सनातन धर्म मानव विकास शोध एवम् प्रशिक्षण केन्द्र
Sanatan Dharma Human Development, Research & Training Center

सुशासन-तन्त्र की शुकनासोपदेश पर आधारित प्रश्नावली

Enter Membership ID to begin test.

Welcome to your सुशासन-तन्त्र की शुकनासोपदेश पर आधारित प्रश्नावली

Name
1. राज्य का शासन योग्य विद्वान एवं अनुभवी है?
2. क्या राज्य का कर्मचारी वर्ग यौवन, ऐश्वर्या से उत्पन्न अविवेक रूपी अंधकार से घिरा है?
3. विलासादि के मोह से अँधा होकर क्या राजा अपने कर्त्तव्य पथ से अँधा हो गया है?
4. क्या राजा द्वारा निर्भीक, प्रभावशाली, दृढ़ संकल्प विद्वानों के उपदेशो का अनुसरण करता है ?
5. क्या राजा का अधिकारी वर्ग झूठा, अभिमानी एवं स्वार्थी है?
6. क्या प्रजा भय से ग्रसित होकर राजाज्ञा का पालन करती है?
7. क्या राजा व्यसन तथा लालच में आकर समाज को विनष्ट कर रहा है?
8. क्या राजा भय और क्रोध का वातावरण उत्पन्न कर बड़े बड़े व्यापारियों एवं आमिर वर्ग का दमन कर रहा है?
9. क्या राज्याधिकारी वर्ग समाज के उत्थान एवं पतन का बोध रखता है?
10. क्या राज्याधिकारी अपने दुर्गुणों को सद्गुणों में डालकर जनता को धोखा दे रहे है?
11. क्या राजा शक्ति तथा धन के मद में मदोन्नत होकर दुर्जनो को परुतोषित एवं सज्जनो का अपमान करने वाला है?
क्या राजा मंत्रियों के परामर्श को तथा हित की बात कहने वालो से ईर्ष्या अथवा क्रोध से व्यव्हार करता है?
13. क्या राजा द्वारा अपने कर्त्तव्य को छोड़कर झूठी प्रशंसा करने वाले व्यक्तियों को परामर्शदाता के पद पर नियुक्त किया है?
14. राज्य का सञ्चालन करने वाले अधिकारी क्रूर एवं दूसरों को देखा देने वाले है?
15. राज्य में जनता को देखा देने के लिए कुशल एवं क्रूर मंत्रियों को नियुक्त किया गया है?
16. क्या राजा शास्त्र में रूचि न रखकर अपितु शास्त्रों द्वारा लोगो की हत्या करवाने वाले है?
क्या राजा मद, लक्ष्मी तथा स्त्रियों के राग में फस कर अपने कर्त्तव्य पथ से भ्रष्ट हो गया है?
क्या राजा आलस्य एवं अधैर्यपूर्ण ढंग से अपने कर्तव्यों का निर्वाह करता है?